press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
ad
स्पेशल स्टोरी
press-vani

छवि बदलने की कवायद जारी

- रतनमणि लाल - क्या विशाल बहुमत और कठोर छवि किसी राजनेता के प्रशासनिक अनुभव की कमी को पूरा कर सकती है? दशकों से एक लय में काम करने के आदी हो चुके अधिकारी व कर्मचारी क्या किसी मजबूत राजनीतिक नेतृत्व को सफल होने देंगे? ये सवाल उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि सभी राज्यों और यहां तक कि केंद्र सरकार के काम...

press-vani

आएगा 'सुनहरा ' दौर भी

- देवेन्द्र गर्ग - पिछले माह नानजिंग (चीन) में खेली गई बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप में भारत की उम्मीदों का भार स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु और सायना नेहवाल पर था। इन दोनों ने इस प्रतियोगिता में काफी अच्छा खेल दिखाया। साइना ने तीसरे राउंड में इंडोनेशिया की रतचनोक इंतानोन को 21-16, 21-19 से हराकर टूर्नामेंट...

press-vani

वृंदावन में ग्रन्थ समाधि

- अशोक बंसल - कृष्ण की क्रीड़ा स्थली वृन्दावन में साधु सन्तों की समाधियों के मध्य एक ऐसी अनूठी समाधि भी है,जिसमें किसी इंसानी काया के अवशेष न होकर सैंकड़ों वर्ष पुराने हस्तलिखित ग्रन्थों का विपुल भंडार बताया जाता है । यह समाधि विश्व में अपने तरीके की अकेली समाधि है और वृन्दावन के विद्वान समय-समय...

press-vani

भैया साहब को सम्मानित करने घर आए अटल जी

बात 1990 की है। उस वक्त अटल बिहारी वाजपेयी लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष और लखनऊ सांसद थे। वे भैया साहब, मेरे बाबा, पद्म भूषण पं. श्रीनारायण चतुर्वेदी को जनता भारत भारती पुरस्कार से सम्मानित करने आए थे। उनके निवास-53, खुर्शेदबाग, लखनऊ पर। उस दिन वसंत पंचमी थी और तारीख 31 जनवरी। परिचितों के बीच 'भैया साहबÓ...