press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
ad
स्पेशल स्टोरी
press-vani

सच की पाठशाला

- सुरेन्द्र बंसल - हमारी शिक्षा से पाठशाला तो बरसों पहले गायब हो चुकी है। आज विकास का ढिंढोरा पीटते हुए हम शिक्षा के उस दौर में हैंं, जहां अपनी आंखें गंवा कर चश्मा खरीद रहे हैं। आज़ादी के बाद शिक्षा की चिंता में दो पीढिय़ां झोंकने के बावजूद हम हाथों से धूल ही झाड़ रहे हैंं। कुछ बड़े शिक्षण संस्थानों...

press-vani

जेब खाली करते करियर एजेंट

-डॉ. ओंकारनाथ चतुर्वेदी - लगभग हर साल शैक्षणिक सत्र की शुरूआत के साथ ही अखबारों में कोचिंग सेंटरों के बड़े-बड़े विज्ञापन देखने को मिलने लगते हैं। दसवीं पास जब इंजीनीयर बन सकता है तो क्यों नहीं चंदा उगाही के लिए विज्ञापन दिए जाएं? कक्षा दसवीं और बारहवीं में पास-फेल और कॉलेज के अन्य छात्रों के लिए...

press-vani

स्कूली शिक्षा पर हावी कोचिंग

- अशोक मलिक - एक पीढ़ी पहले तक स्कूल ज्ञानार्जन के केन्द्र हुआ करते थे, जहां शिक्षक मन लगा कर पढ़ाते थे और विद्यार्थी लगन से पढ़ते थे। ट्यूशन या कोचिंग क्लासेस का नामोनिशान नहीं था, बड़े शहरों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए इक्का-दुक्का सेंटर होते थे। पढ़ाई में कमजोर विद्यार्थी पास...

press-vani

क्यों ऐसा कानून ?

- अनिल चतुर्वेदी - नए मोटर व्हीकल कानून को गडकरी कानून भी कहा जा सकता है। बड़े-बडे जुर्माने थोपे गए हैं इस कानून में। इसके खिलाफ बन रहे पब्लिक मूड को शांत करने के लिए मीडिया मार्केटिंग का सहारा लिया जा रहा है। खुद गडकरी सालभर में सडक़ हादसों में मरने वालों की संख्या बताकर लोगों में भय के जरिये इसे...