press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
ad
स्पेशल स्टोरी
press-vani

लुटियंस दिल्ली की बदलेगी शक्ल

- अजय चतुर्वेदी - अगर सब कुछ योजना के अनुसार होता गया, तो अगले चार साल में दिल्ली के लुटियंस क्षेत्र (जोन) की शक्ल बदल जाएगी। ऐसा संभव होगा नया सेंट्रल विस्टा (केंद्रीय वीथी) बनने के बाद। इस महत्वाकांक्षी योजना में कई सरकारी भवनों को गिरा कर नये भवन बनेंगे। नया संसद भवन बनेगा और इसके बाद खाली होने...

press-vani

हिंसा-तिकड़म कब तक?

— अनिल चतुर्वेदी — दिल्ली विधानसभा के चुनावी नतीजे हमारे इस अंक का प्रमुख मुद्दा हैं। इसी पर अंदर के पेजों में करीने से छ्द्रिन्वेषण (पोस्टमार्टम) किया गया है। मगर चुनाव बाद दिल्ली को जिस तरीके से सुलगाया गया है, उसे करीने का पर्यायवाची बताना भी गंभीरता को कमतर आंकना होगा। मतलब ये कि दिल्ली...

press-vani

मांसाहार पर सवालिया निशान

- अशोक थपलियाल - एक दिन रात को अजीब सपना देखा - ‘मैं लजीज मटन कबाब को मुंह में रखने वाला ही था कि पशु-पक्षियों की दशकों पुरानी चीखें और मछलियों की मौन आहें सुनाई दीं। मानो वे सभी पूछ रहे थे- क्या मानव मानवता शब्द को भूल गया है ? मैंने कहा, मैं तो बाबा चार्ल्स डार्विन का समर्थक हूं, जो सरवाइवल ऑफ द फिटेस्ट...

press-vani

‘आप’ की जीत का आशय क्या?

— विनोद वाष्र्णेय — हाल ही में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 62 सीटें जीतकर राजनीतिक पर्यवेक्षकों चौंका दिया। यह जीत इसलिए बड़ी है क्योंकि उसकी टक्कर देश की सबसे विशाल, संसाधन व कार्यकर्ता प्रचुर और न केवल केंद्र में, बल्कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों में सत्ता में काबिज...