press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
यात्रीभार बढाने को ऑफर ही ऑफर

कारोनाकाल में हिचकोले खा रही विमान कंपनियां यात्रियों को लुभाने के लिए एक से एक ऑफर दे रहीं हैं। फिर भी कोरोना के डर से लोग यात्रा करने से बच रहे हैं। अभी भी केवल जरूरी कार्यों से जाने वाले यात्री ही हवाई यात्रा कर रहे हैं। इससे यह संकेत भी मिल रहे हैं कि मजबूरीवश ही लोग विमान से यात्रा कर रहे हैं।
लॉकडाउन के बाद फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए 50 दिन पूरे हो चुके हैं। जयपुर एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स की संख्या में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हो रही है। 25 मई को जब फ्लाइट शुरू हुई थीं, तब 20 फ्लाइट का शेड्यूल तय किया गया था, लेकिन अभी भी रोजाना औसतन 15 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं। क्योंकि फ्लाइट्स में यात्रियों की संख्या काफी कम दिख रही है। औसतन 50 से 60 फीसदी लोग ही विमान यात्रा कर रहे हैं।
यात्रीभार बढ़ाने के लिए एयरलाइंस कई तरह के ऑफर दे रही हैं। इंडिगो, स्पाइसजेट, एयर एशिया आदि एयरलाइंस यात्री किराए में रियायत के कई विकल्प दे रही हैं। वहीं एयरलाइंस कोरोना के डर से यात्रा नहीं करने वाले यात्रियों के लिए विकल्प लेकर आई हैं। ऐसे यात्रियों को कोविड-19 का बीमा दिया जा रहा है, जिसमें टैस्ट कराने से लेकर सम्पूर्ण इलाज उपलब्ध कराने के विकल्प दिए जा रहे हैं।
एयरलाइंस द्वारा डॉक्टर्स और नर्सेज के लिए किराए में 25 फीसदी डिस्काउंट का ऑफर दिया जा रहा है। टिकट बुकिंग के समय मात्र 10 प्रतिशत किराया भुगतान का ऑफर दिया जा रहा है। शेष 90 प्रतिशत किराया 15 दिन की अवधि में चुकाने का विकल्प भी दिया जा रहा है। 159 रुपए से लेकर 443 रुपए प्रति यात्री तक यात्री बीमा का ऑफर दिया जा रहा है। इससे कोविड-19 से संक्रमित होने की स्थिति में अस्पताल में सभी तरह का कवर मिलेगा। अलग-अलग बैंकों के कार्ड के जरिए किराए में 5 फीसदी डिस्काउंट मिलेगा। इसके अलावा एयरलाइंस अब चार्टर सेवा भी उपलब्ध करवा रहीं हैं, यानी ग्रुप में यात्रा नहीं करना चाहते तो अलग विमान किराए पर ले सकते हैं।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad