press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
अरहर चढी, सरकार कराएगी जांच

आम आदमी को अब दाल की महंगाई सताने लगी है। दिल्ली के खुदरा बाजार में अरहर दाल की कीमतें 100 से 120 रुपये प्रति किलो के भाव तक पहुंच गई है। बताते हैं कि अरहर दाल की कीमतें उत्पादन में कमी की वजह से बढ़ी है। इस साल निर्यात भी बढ़ा है। इसीलिए कीमतों में तेजी है। सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सरकार के पास दाल की कोई कमी नहीं है। कीमतें क्यों बढ़ रही है, इसकी जांच होगी। सरकार ने अफ्रीकी देश मोजाम्बिक से 1.75 लाख टन अरहर दाल के आयात की अनुमति दे दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 2 लाख टन अरहर दाल आयात के लिए जल्द लाइसेंस जारी किए जाएंगे।
विशेषज्ञों का कहना है कि मांग बढ़ने से घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अरहर दाल के दाम बढ़े हैं। साथ ही दुनिया के बड़े अरहर दाल उत्पादक कई देशों में भी उत्पादन घटने के बाद कीमतों में तेजी आई है। भारत म्यांमार से अरहर की दाल खरीदता है। इससे पहले साल 2015 में पहली बार भाव 200 रुपये किलग्राम के पार पहुंच गया था। भारत के अलावा म्यांमार और कुछ अफ्रीकी देशों में ही अरहर दाल पैदा होती है।
कृषि मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि पिछले साल देश में अरहर की दाल का 40 लाख टन से ज्यादा उत्पादन हुआ था। इस साल ये 35 लाख टन के करीब है। पिछले खरीफ सीजन में अरहर दाल की बुआई कम हुई थी। इसके अलावा सरकार ने दालों के आयात पर कई तरह के प्रतिबंध लगा रखे हैं। इस साल मानसून कमजोर रहने की संभावना से भाव चढ़े हैं।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad