press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
नहीं हुई हिम्मत
August 28, 2019


devendra garg
राजस्थान में हिम्मत नहीं हुई भाजपा की। पार्टी तोड़-फोड़ करने की सोच रही थी। कर्नाटक की बाजी जीतकर उसके हौसले बुलंद थे। मगर राजस्थान में शतरंजी चालों के माहिर सरकार बहादुर ने सत्ताधारी माननीयों की पाला बदली संभव ही नहीं होने दी। ऐसे में राज्यसभा सीट निकालना दुस्साहस मानकर ही भाजपा-वीरों ने कदम खींच लिए।
इस चुनाव में भाजपा ने उम्मीदवार न खड़ा करके पूर्व प्रधानमंत्री और आर्थिक मामलों के पंडित को निर्विरोध ऊपरी सदन में पहुंचा दिया। देखा जाए तो भाजपा को मध्य प्रदेश कांड ने हिला रख दिया। वहां उसके दो माननीय हाथ से निकल गए।
पार्टी ने सोचा भी नहीं था कि जो काम इन दिनों वो कर रही है, उसे सामने वाला भी कर सकता है। मध्य प्रदेश का घटनाक्रम राजस्थान में दोहराए जाने की आशंका ने ही भाजपा की हिम्मत पस्त कर दी।
मध्य प्रदेश में तो भाजपा को सिर्फ नाथ ने झटका दिया, राजस्थान में तो महानाथ बैठे हैं, जिनकी सत्ता ही इधर-उधर से समर्थन का जुगाड़ से चलती है। जुगाड़ भी ऐसा कि सारे समर्थक माननीयों के टस से मस होने की कोई गुंजाइश ही नहीं। इसीलिए भाजपा ने राज्यसभा की अपनी सीट पर वॉकओवर दे दिया।

 
Leave a Reply

Recent Posts