press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
सस्ते इलाज को लागू भी कराएं सरकारें
February 28, 2017


विनोद पाठक
विनोद पाठक
प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी नई नहीं है। इनकी हठधर्मिता के चलते कई गरीब इलाज से या तो वंचित रह जाते हैं या फिर कर्ज में डूब जाते हैं। पिछले दिनों केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने प्राइवेट अस्पतालों पर सिजेरियन डिलीवरी को लेकर तल्ख बोल बोले थे। उन्होंने तो बकायदा इसे डिलीवरी घोटाले की संज्ञा दे दी थी। मंत्री ने जब यह मुद्दा उठाया तो देशभर के जो आंकड़े सामने आए, वो घोटाले की ओर से इशारे करते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार सी सेक्शन डिलीवरी किसी भी देश में 10-15 प्रतिशत होनी चाहिए, पर अपने देश में रिकॉर्ड तोड़ रही है। तेलंगाना में 74 तो पश्चिम बंगाल में 70 प्रतिशत केस प्राइवेट अस्पतालों में सिजेरियन थे। अब दूसरा मामला हार्ट के स्टेंट का है। केंद्र सरकार ने 13 फरवरी को स्टेंट की कीमत 85 प्रतिशत तक घटाकर 1-1.5 लाख से सीधा 25-30 हजार रुपए कर दी। पहले तो प्राइवेट अस्पतालों ने स्टेंट ही बाजार से गायब कर दिया, लेकिन जब सरकार सख्त हुई तो स्टेंट तो सस्ता किया, लेकिन पैसे वसूलने में कमी नहीं की। इसका खुलासा जयपुर के दोनों प्रमुख समाचार पत्रों दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका ने स्टेंट को लेकर शहर के बड़े अस्पतालों में स्टिंग ऑपरेशन करके किया। देखा जाए तो प्राइवेट अस्पतालों पर सरकार की सख्ती का कोई खास असर नहीं हुआ है। सरकार लगातार गरीबों को सस्ता और सुलभ इलाज देने की कोशिश करती है। विगत एक साल में दवा की कीमतों को देखा जाए तो मार्च 2016 में बीपी, कैंसर समेत 54 दवाओं की कीमतों को घटाया गया। जून 2016 में 56 दवाइयों की कीमतें 25 प्रतिशत और दिसंबर 2016 में 50 दवाइयों की कीमत 44 प्रतिशत तक कम कर दी गईं, लेकिन राहत दूर-दूर तक नहीं मिलती दिख रही। इंतेहा तो यह है कि सरकारी अस्पतालों में पहुंच रहे मरीज शाम तो सरकारी डाक्टर के घर पर निजी रूप से दिखाते मिल जाते हैं। सरकार बीच-बीच में कुछ गीदड़ भभकी तो प्राइवेट अस्पतालों को देती है और सरकारी डाक्टरों पर छापे पड़ते हैं, पर सुधार आज तक नहीं हुआ। जो भी पार्टी सत्ता में रहती है, उसके नेता मौन साध लेते हैं और विपक्षी पार्टी सरकार को ललकारती है। स्टेंट के मामले में राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान को इसी नजरिए से देखा जा सकता है। उन्होंने स्टेंट के स्टिंग को सीधे राज्य सरकार की विफलता से जोड़ दिया, लेकिन शायद उनके पास अपने कार्यकाल में ऐसे अस्पतालों पर हुई कार्रवाई के उदाहरण शायद ही हों। सवाल यहां राजनीतिक रोटियां सेंकने का नहीं है। जरूरत अंतिम आदमी तक सस्ता और सुलभ इलाज, हर कीमत पर पहुंचाने की है। सरकारों को दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ ऐसे अस्पतालों पर कड़ी कार्रवाई करने की है, जो सरकार की दी राहत को जनता के पास पहुंचने से रोक रहे हैं। सरकारें केवल कानून न बनाएं, बल्कि उनका कड़ाई से पालन कराएं, ताकि दोषियों की सजा देख कोई दूसरा अस्पताल या डाक्टर मरीजों से खिलवाड़ की कोशिश न कर सके।

 
Comments:
  • utebapeeobaeo
    July 20, 2019

    http://mewkid.net/order-amoxicillin/ - Amoxicillin 500 Mg Amoxicillin Online rlc.dnhp.pressvani.com.bvj.kk http://mewkid.net/order-amoxicillin/

  • emiajod
    July 20, 2019

    http://mewkid.net/order-amoxicillin/ - Amoxicillin Without Prescription Amoxicillin Online ktq.mvwv.pressvani.com.ifw.tn http://mewkid.net/order-amoxicillin/

  • ubipufe
    July 20, 2019

    http://mewkid.net/order-amoxicillin/ - Amoxicillin 500 Mg 18 dmt.yubk.pressvani.com.piz.ir http://mewkid.net/order-amoxicillin/

  • eujivapefu
    July 20, 2019

    http://mewkid.net/order-amoxicillin/ - Amoxicillin Amoxicillin Online kdm.utjr.pressvani.com.sgc.xp http://mewkid.net/order-amoxicillin/

  • Lynn
    April 16, 2017

    Hahhaaha. I'm not too bright today. Great post! http://hhvbbn.com [url=http://xcbezfkk.com]xcbezfkk[/url] [link=http://ikbzwcfl.com]ikbzwcfl[/link]

  • Bonner
    April 15, 2017

    Gosh, I wish I would have had that infaomrtion earlier!

  • Reignbeau
    April 14, 2017

    No more s***. All posts of this quaitly from now on http://ahhsyoilgm.com [url=http://eekjbrdhn.com]eekjbrdhn[/url] [link=http://gwsjlz.com]gwsjlz[/link]

  • Kathy
    April 08, 2017

    This is craystl clear. Thanks for taking the time!

  • Gabby
    April 08, 2017

    Preciosas fotos que reflejan el ambiente porteño y acertadísimo el tratamiento otorgado a éstas. Nos hacen mirar a través de los ojos sabios que hay detrás de la cámara y que nos enseñan el mundo desde una perspectiva inusual. Porque la cámara sólo es una herramienta, y saber mirar a su través todo un ar282&#e212;—t12;—————.12;-De nuevo en ruta con Fefa, cuidado y suerte.Un abrazo.Tu voto: 0  0

Leave a Reply

Recent Posts