press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
चीनी मांझा बेचा तो होगी जेल

जयपुर। चीनी मांझा बेचने वालों को अब जेल की हवा खानी पड़ेगी। अभी तक पुलिस चीनी मांझा बेचने वालों को गिरफ्तार कर उन पर जुर्माना लगा रही थी, लेकिन अब उन्हें धारा 338 के तहत गिरफ्तार किया जाएगा। इस धारा में किसी के जीवन को खतरे में डालने का मामला बनता है। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) नायलॉन और ऐसे किसी भी अन्य सिंथेटिक पदार्थ से बने मांझे पर प्रतिबंध लगा चुका है, जिसका रासायनिक विघटन जैविक तरीके से संभव नहीं है। हरित पैनल ने इसे पक्षियों, पशुओं और इंसानों की जान को खतरे में डालने वाला बताया है। एनजीटी ने सभी राज्य सरकारों को पतंग उड़ाने में इस्तेमाल किये जाने वाले चीनी, सिंथेटिक मांझा या नायलॉन के धागों और सभी प्रकार के सिंथेटिक धागों के विनिर्माण, बिक्री, भंडारण, खरीद और इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी।
पतंग उड़ाने के लिए इस्तेमाल में लाये जाने वाले नायलॉन और अन्य सिंथेटिक पदार्थों या सिंथेटिक पदार्थ की परत वाले एवं जिनका रासायनिक विघटन जैविक तरीके से करना संभव नहीं हो, से बने मांझे या धागे पर पूर्ण प्रतिबंध होगा। यह मांझा इंसानों और पशुओं के जीवन के लिए खतरनाक है, क्योंकि हर साल इससे बड़ी संख्या में लोगों की जान चली जाती है। गौरतलब है कि पड़ोसी देश चीन भारत में सीसायुक्त सूती का मांझा धागा काफी मात्रा में निर्यात करता है।

press-vani
एक्सक्लूसिव इंटरव्यू
press-vani ad