press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
गहलोत ने दबाव से खाली कराया बंगला-डॉ. किरोड़ी

17 सालों तक जयपुर के अस्पताल रोड के बंगले में रहने के बाद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने शुक्रवार को सरकारी बंगला खाली कर दिया। पर इस घटनाक्रम को लेकर नई जानकरी सामने आ रही है। भाजपा सांसद डॉ. मीणा के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उनसे कहा गया था कि उनपर कुछ दबाव है और आप यह बंगला खाली कर दीजिए।
बताया जा रहा है कि कांग्रेस के तीन-चार मीणा नेताओं ने सरकार पर डॉ किरोड़ी लाल मीणा का बंगला खाली कराने के लिए दबाव डाला था। मंत्री के नाते तो डॉक्टर किरोड़ी लाल 4 साल ही बंगले में रहे, बाकी के 4 साल पत्नी गोलमा देवी के मंत्री बनने के बाद रहे। इसके अलावा इस बंगले में वे विधायक और सांसद की हैसियत से 9 साल से रह रहे थे।
राजस्थान में मीणा समाज के कद्दावर नेता माने जाने वाले राज्यसभा सदस्य डॉ किरोड़ी इन दिनों पार्टी नेतृत्व से खफा हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले विधानसभा चुनाव से पहले उनकी पार्टी का भाजपा में विलय कराया था। मगर किरोड़ी पार्टी में पूरी तरह से घुल मिल नहीं पाए हैं। उन्होंने बताया कि विपक्ष में रहने के दौरान भाजपा का नेतृत्व कभी भैरों सिंह शेखावत की तरह प्रभावशाली और सशक्त हुआ करता था। अब उनकी कमी मौजूदा नेतृत्व में खलती है।
डॉ. किरोड़ी लाल को लगता है कि भाजपा में उनकी वैसी पूछ नहीं हो रही है जैसी होनी चाहिए। इस बीच कांग्रेस के कई युवा मीणा नेता सामने आ चुके हैं जो डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा के क्षेत्र में चुनौती देते रहते हैं। डॉक्टर मीणा को उम्मीद है कि अगर मोदी मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा तो आदिवासी नेता के रूप में उन्हें केंद्र में जगह मिलेगी। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी नजदीकी आपातकाल के दौरान से ही है। उस दौरान उन्होंने मोदी के साथ में खूब काम किया था। इसी की वजह से पीएम ने उन्हें राज्यसभा में भेजा है और आगे भी उनके ऊपर है जो जिम्मेदारी देना चाहें, दे सकते हैं।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad