press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
पीएमजी, सीएनजी हो सकती मंहगी

एक अप्रैल से लोगों का बजट फिर गड़बड़ सकता है। सरकार घरेलू प्राकृतिक गैस की कीमत 18 फीसदी तक बढ़ा सकती है। नई कीमतें आगामी 1 अप्रैल से लागू होने की संभावना है। नई घरेलू गैस नीति 2014 के तहत हर छह महीने में प्राकृतिक गैस की कीमतें तय की जाती है। यह फॉर्मूला विदेशी कीमतों पर आधारित है। सरकार के इस कदम से ऑटो फ्यूल के रूप में इस्तेमाल होने वाली सीएनजी और घरों में खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाली पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएमजी) की कीमतें बढ़ जाएंगी। इससे आम आदमी की जेब पर बोझ पड़ना तय है।
रेटिंग एजेंसी केयर की रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राकृतिक घरेलू गैस कीमतों में 18 फीसदी तक की बढ़त का अनुमान है। अगर ऐसा होता है तो मैन्युफैक्चरिंग, ट्रैवल, एनर्जी सेक्टर महंगाई से प्रभावित हो सकते है। भारत में नेचुरल गैस का दाम गैस बेचने वाले अमेरिका, रूस और कनाडा जैसे देशों में गैस की तिमाही औसत कीमत के आधार पर तय किया जाता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा अनुमान है कि अप्रैल-सितंबर 2019 के लिए घरेलू प्रकृतिक गैस की कीमतें मौजूदा 3.36/एमएमबीटीयू डॉलर से बढ़ाकर लगभग 3.97/ एमएमबीटीयू डॉलर कर दी जाएगीं।
इसके अलावा यह यूरिया और पेट्रोकेमिकल की उत्पादन लागत भी बढ़ सकती है। ऐसे में कंपनियां दाम बढ़ा सकती है। क्योंकि इन यूनिट मेंप्रकृतिक गैस का इस्तेमाल होता है। साथ ही पावर सेक्टर, स्पंज आयरन फैक्ट्री वालों पर भी बोझ बढ सकता है। वहां प्राकृतिक गैस ऊर्जा उत्पादन के लिए इस्तेमाल होती है।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad