press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
दसवीं परीक्षा में बैठे 11.5 लाख छात्र

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं कक्षा के बाकी दो विषयों की परीक्षा सोमवार से शुरू हो गई। आज सामाजिक विज्ञान का पेपर हुआ, मंगलवार को गणित का पेपर होगा। कोरोना संक्रमण के बीच यह परीक्षा बोर्ड और राज्य सरकार दोनों के लिए बड़ी चुनौती है। दोनों पेपरों में प्रत्येक में 11.5 लाख स्टूडेंट्स बैठेंगे। यह परीक्षाएं कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से रोकनी पड़ी थी।
आज परीक्षा के दौरान धौलपुर जिले में बसई नवाब के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्कूल प्रशासन की लापरवाही के चलते सोशल डिस्टेंस की खुलेआम धज्जियां उड़ाईं गईं। परीक्षा देने आए बच्चे परीक्षा केंद्रों पर ग्रुप बनाकर साथ खड़े नजर आए।
सोमवार सुबह 8:30 बजे से सामाजिक विज्ञान का पहला पेपर शुरू हुआ, जो सुबह 11:45 बजे तक चला। परीक्षार्थियों को एक घंटा पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने को कहा गया था। बोर्ड सचिव अरविंद सेंगवा ने कहा कि बोर्ड द्वारा मार्च में कक्षा 10वीं की परीक्षा के लिए 5685 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। लेकिन, अब संक्रमण को देखते हुए और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखने के लिए 521 परीक्षा केंद्र और बढ़ाए गए हैं। दोनों पेपर 6000 से ज्यादा परीक्षा केंद्रों पर आयोजित होंगे। कक्षा 10वीं की परीक्षाएं पूर्व में छपे प्रश्न पत्रों से ही ली जा रही हैं। यह परीक्षा प्रश्नपत्र प्रदेशभर में पहले से ही पहुंचे हुए हैं। नए परीक्षा केंद्रों पर भी प्रश्न पत्र पहुंचाए गए।
इससे एक दिन सुप्रीम कोर्ट ने 10वीं के बचे दो प्रश्न-पत्र की परीक्षा रद्द करने की मांग वाली याचिका रविवार को खारिज कर दिया था। कोर्ट ने कहा था कि शैक्षणिक संस्थाओं में कोर्ट को न्यूनतम दखल देना चाहिए। हालांकि, आरबीएसई और आईसीएसई जैसे सेंट्रल बोर्ड तक ने अपनी बची हुई परीक्षा कैंसिल कर दी है। ऐसे में राजस्थान सरकार के इस फैसले से अभिभावकों में भी नाराजगी है।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad