press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
शादी के शगुन की राशि वीरफंड में

सीआरपीएफ के एक एसआई ने खुद की शादी में एक अनूठी पहल की है। दावा किया जा रहा है कि यह राजस्थान ही नहीं, देश की सबसे अलग शादी होगी। वर पक्ष ने शादी पर कोई भी तोहफा लेने से इनकार करते हुए अतिथियों से अपील की है कि वे वर-वधु को शगुन न देकर वह राशि भारत के वीर फंड में जमा करा दें। यह फंड केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देश के लिए शहीद होने वाले अर्धसैनिक बलों की वित्तीय मदद के लिए बनाया गया है। परिवार ने यह इच्छा बाकायदा शादी के कार्ड पर भी छपवाई है।
श्रीगंगानगर निवासी सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर विकाश खड़गावत ने पुलवामा हमले में शहीद हुए परिवारों के दर्द को नजदीक से देखा तो अपनी शादी में उनके लिए कुछ मदद करने की योजना बनाई। विकास को शादी में जितने भी पैसे मिलेंगे, उसको भारत के वीर फंड में देंगे। उन्होंने इसी संदेश के साथ अपनी शादी के कार्ड भेजवाएं हैं और उसपर लिखा है कि सभी नकद उपहार सीआरपीएफ के फंड दान किए जाएंगे।
उधर, कन्या पक्ष ने भी फैसला किया है कि वह भारत के वीर फंड में दान देंगे। दूल्हे के पिता गोपाल खड़गावत ने बताया, यह मेरा विचार था कि बेटे की शादी में खर्च होने वाले पैसे को देश के लिए लड़ने वाले जवानों की खातिर दान दिया जाए। जब मेरी बेटी की शादी हुई तो मैंने फैसला किया कि मैं अपने बेटे की शादी में कोई तोहफा नहीं लूंगा। साथ ही परिवार और दोस्तों की ओर से शादी में जो शगुन दिया जाएगा, उसे पूरा का पूरा शहीदों के फंड के लिए दान कर दूंगा। मैंने यह अपील शादी के रिसेप्शन कार्ड में भी छपवाई है इसमें साफ लिखा गया है कि जो लोग भी शादी में दुआओं के साथ शगुन देना चाहते हैं, वह सारी राशि हम एक महीने के अंदर ही भारत के वीर फंड में दान कर देंगे।
विकाश खड़गावत इस समय जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में ही तैनात हैं। उन्होंने देश के युवाओं के लिए एक संदेश में कहा- लोगों में यह मानसिकता है कि यदि मेरा बेटा एक अधिकारी है तो दहेज की राशि में हेराफेरी होनी चाहिए, लेकिन मैं समाज में एक उदाहरण स्थापित कर रहा हूं और युवाओं को इसका पालन करना चाहिए।

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad