press-vani
  • press-vani
  • press-vani
  • press-vani
शहीद को 10 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि

शहीद राजीव सिंह का राजकीय सम्मान के साथ गमगीन माहौल में सोमवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहीद के 10 वर्षीय बेटे अदिराज सिंह ने मुखाग्नि दी। अदिराज ने कहा, वह भी सेना में भर्ती होकर पाकिस्तान को सबक सिखाएगा। इससे पहले शहीद की पार्थिव देह रात को दिल्ली से प्रागपुरा पुलिस थाने पहुंची। थाने से सुबह पार्थिव देह को शहीद के लुहाकना खुर्द स्थित घर ले जाया गया। प्रागपुरा पुलिस थाने से पैतृक ग्राम लुहाकना खुर्द तक करीब 15 किलोमीटर तक लोग बाइक पर और पैदल चलते हुए राजीव सिंह अमर रहे, भारत माता की जय, वन्देमातरम के नारे लगाते रहे।
जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ भी जिस सैन्य वाहन में शहीद की पार्थिव देह थी उसी में साथ चल रहे थे। सैनिक कल्याण बोर्ड मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, मोटर गैराज मंत्री राजेन्द्र यादव, विराटनगर विधायक इंद्राज गुर्जर, पूर्व डिप्टी स्पीकर राव राजेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक फूलचंद भिण्डा सहित सहित कई जनप्रतिनिधियों ने पुष्प चक्र अर्पित किए। यहां से पार्थिव देह हो मोक्ष स्थल ले जाया गया, जहां अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के 10 वर्षीय बेटे अदिराज सिंह ने मुखाग्नि दी। पिता की शहादत पर बेटे ने कहा कि उसके दादा भी सेना नायाब सूबेदार रह चुके हैं। पिताजी ने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए हैं, हमे उन पर गर्व है। उनका शरीर देश की सेवा में काम आ सका।
पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना के संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी में विराटनगर तहसील के लुहाकना खुर्द का बेटा शहीद हो गया। रविवार को सैनिक के शहीद होने की खबर मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। सैनिक के बलिदान को लेकर व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। सैनिक की मौत की खबर मिलते ही परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था। सांसद एवं विधायक ने शहीद के पिता शंकरसिंह, मां पुष्पा कंवर, पत्नी उषा कंवर व 10 वर्षीय पुत्र अधिराज को ढाढ़स बंधाया। चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डा.सुरेशचंद व उनकी टीम परिजनों की देखभाल को लेकर जुटी रही। पत्नी बार-बार पति को याद करते हुए बेहोश हो रही थी

press-vani
हम लोगों की बात...
press-vani ad